नारियल मधुर व खुशबूदार होता है इसमें से उच्च कोटि का वनस्पति तेल निकलता है।नारियल तेल के इस्तेमाल से भोजन में बहुत बेहतरीन सुगंध आती है।नारियल तेल पर किये गए एक सर्वे के अनुसार यदि नारियल तेल से तैयार बने व्यंजन रोजाना खाए जाए तो यह ज्यादा नुकसानदायक नहीं होता है क्योकि नारियल तेल में कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है। इसमें मीडियम चैन ट्राइग्लिसराइड होते हैं, जो कि शरीर में आसानी से अवशोषित हो जाते हैं।

food, coconut, fruit-3062139.jpg

नारियल तेल में पकाया गया भोजन अधिक देर तक ताजा रहता है और पोषक पदार्थों के अवशोषण में मदद करता है बड़े स्तर पर देखा जाए तो नारियल तेल हमारी जिंदगी में अहम भूमिका निभाता है इसलिए नारियल तेल स्वास्थ्य और सौंदर्य के लिए बहुत ही उपयोगी है आइये हम नारियल तेल के उपयोग पर चर्चा करते है।

आयु वर्धक –

नारियल के तेल को आयुर्वेद के अनुसार आयु वर्धक माना गया है।

ऊर्जा दायक –

नारियल तेल में मौजूद सैचुरेटेड फैट्स ऊर्जा के भरपूर स्रोत माने जाते हैं।

बुढ़ापे को रोकने में सहायक –

नारियल तेल में मौजूद कैप्रेलिक एसिड सहित कई ऐसे सैचुरेटेड फैटी एसिड्स होते हैं। जो शरीर पर उम्र का असर होने से रोकते हैं बालो को सफ़ेद होने से रोकते हैं। और त्वचा पर समय से पहले दिखाई देने वाले बुढ़ापे के चिन्हों को रोकता है।

एंटीफंगल – सैचुरेटेड फैटी एसिड्स अपने आप को एंटीफंगल एजेंट्स में बदल डालते हैं इससे शरीर को आंतरिक और बाहरी सुरक्षा मिलती है त्वचा रोगों में यह तेल एक सुरक्षा कवच की तरह काम करता है।

इम्यून सिस्टम व् पाचन बढ़ाने वाला

नारियल तेल इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है पाचन बढ़ाता है।

बालो की रुसी को दूर करने वाला –

बाल झड़ने से रोकने में नारियल का तेल पूरी दुनिया में विख्यात है। यह बालों को झड़ने से रोकता है रूसी के इलाज में नारियल के तेल का खास महत्व है नारियल के तेल में नींबू का रस मिला कर लगाने से रूसी खत्म हो जाती है।

कैंसर रोधी –

cancer, newspaper, word-389921.jpg

कैंसर की रोकथाम में सिचुएटेड फैटी एसिड का महत्वपूर्ण योगदान रहता है यह फैटी एसिड्स बिल्कुल वैसे हैं जो माता के दूध में विद्वान होते हैं।

दिल की बीमारियों में उपयोगी –

नारियल तेल में मौजूद ट्राइग्लिसराइड वसा के थक्के हटाने में सहायक होते हैं, जिससे दिल की बीमारियों का जोखिम कम हो जाता है।

पेट के कीड़ों के उपचार में –

नारियल का तेल पेट के कीड़ों के उपचार में काम करता है राउंडवर्म और टेपवर्म का नाश करता है।

मोटापा कम करने में –

body, female, diet-5439405.jpg

नारियल का तेल वजन को भी कम करता है क्योंकि इस तेल के सेवन से शरीर की चयापचय क्रिया की गतिविधि तेज हो जाती है इसलिए शरीर की वसा खर्च होती है जिससे शरीर का अतिरिक्त वजन घटाने में मदद मिलती है।

त्वचा की देखभाल में –

नारियल का तेल बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है त्वचा की खुश्की को दूर करने में वह शरीर की नमी बरकरार रखने में यह तेल बहुत ही लाभदायक है

चर्म रोगों में –

खाज, खुजली, शीतपित्त ( पित्ती निकला ) आदि चर्म रोगों में नारियल के तेल में कपूर को मिलाकर उपयोग करने से लाभ मिलता है।

जलने के कारण बने निशान पर –

यदि नारियल के तेल में कपूर मिलाकर नियमित रूप से लगाया जाए, तो धीरे-धीरे व निशान हल्के हो जाते हैं और उनकी जलन भी दूर हो जाती है।

इस तरह नारियल तेल हमारे स्वास्थ्य व् सौंदर्य के बहुत ही उपयोगी है ।

नारियल तेल के उपयोग बताए गए हैं परंतु किसी भी रोग के उपचार हेतु चिकित्सक से परामर्श करके ही इनका उपयोग करें।

आपके लिए ये Article ” स्वास्थ्य और सौंदर्य के लिए नारियल तेल के उपयोग Uses of Coconut Oil for Health and Beauty”  कितना उपयोगी लगा कृपया कमेंट करके जरूर बताएं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *