खीरे के बिना सलाद की कल्पना करना बेमानी होगी । खीरा भोजन में सलाद का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। आयुर्वेद के अनुसार खीरा शीतल , पेशाब की जलन को दूर करने वाला और यकृत के लिए बहुत उपयोगी माना गया है खीरा रक्त की गर्मी को दूर करने वाला बहुत ही स्वादिष्ट खाने योग्य होता है।

cucumber, cucumber slice, cutting board-4672972.jpg

यूनानी चिकित्सा पद्धति में भी इसके बीजों का तेल मस्तिष्क व शरीर के लिए बहुत उपयोगी बताया गया है। खीरे के बीज काम शक्ति वर्धक होने के साथ-साथ मर्दाना कमजोरी को दूर करने वाले हैं और शीघ्रपतन में फायदेमंद है। खीरे के बीजों का उपयोग मिठाइयों, लड्डू, हलवा आदि अनेक व्यंजनों में किया जाता है आइए स्वास्थ्य व् सौंदर्य के लिए खीरे के उपयोग की चर्चा करते हैं।

.

खीरे का उपयोग सौंदर्य प्रसाधन के रूप में

girl, woman, vegetables-4377388.jpg

खीरे को छीलकर महीन कद्दूकस कर इसके रस को निचोड़ लें रुई के फाहे को इस रस में भिगोकर चेहरे पर धीरे-धीरे लगावे यह तैलीय त्वचा के लिए बहुत उपयोगी है इससे त्वचा का सांवलापन भी दूर होता है।

त्वचा के सावलेपन के लिए

खीरे के रस में पिसी हुई हल्दी वह नींबू मिलाकर त्वचा पर लेप कर ले, लगभग 20 मिनट बाद पानी से साफ कर लें। इस प्रकार रोजाना इस्तेमाल करने से त्वचा का सांवलापन दूर होता है ।

सनबर्न के लिए

खीरे को बारीक पीसकर उसमें जरा सा दूध मिलाकर त्वचा पर लेप करें इससे सनबर्न के कारण झुलसी त्वचा में ताजगी आती है।

आग से जलने पर

खीरे के रस को रूई के फाए से जले हुए स्थान पर धीरे-धीरे लगाएं।

बालों के लिए

खीरे के रस को बालों में लगाने से बाल मुलायम व मजबूत बनते हैं।

आंखों के लिए

cucumber, vegetables, green cucumber-5089995.jpg

खीरे के छोटे-छोटे टुकड़े करके टकले और उन को लगभग 15 मिनट अपनी आंखों पर रखें ।इससे आंखों की गर्मी व थकान दूर होती है यह उपयोग करते समय बीच-बीच में खीरे के टुकड़ों को बदलते रहना चाहिए।

पेशाब में जलन के लिए

खीरे के बीच, तरबूज के बीज और खरबूजा के बीज इन सब की गिरी को निकाल कर पानी में घोटकर ठंडाई पिलाने से पेशाब की जलन दूर हो जाती है और पेशाब साफ आता है।

नाक, मुँह या गुदा से खून आने पर

खीरे के रस में काला नमक व काली मिर्च डालकर दिन में दो-तीन बार पिलाने से नाक, मुँह या गुदा से आने वाला खून रुक जाता है।

मधुमेह में

cucumbers, vegetables, cut-5279124.jpg

मधुमेह रोगी को ज्यादा खाने के लिए मना होती है इसलिए उसकी भूख को दूर करने के लिए खीरे को भरपेट खाने से मधुमेह रोगी की भूख की लालसा मिटती है और मधुमेह में भी लाभ मिलता है।

गला बैठ जाने पर

खीरे की पत्तियों को भाप में उबालकर और उसमें सफेद जीरा डालकर उनको आंच पर सेक कर चूर्ण बना लें इस चूर्ण को लगभग 15 रत्ती शहद के साथ चटाने से बैठे हुए गले में राहत मिलती है।

इस प्रकार खीरा स्वास्थ्य व सौंदर्य दोनों के लिए बहुत ही उपयोगी है गर्मी में जितना हो सके खीरे को सलाद के रूप में अवश्य इस्तेमाल करना चाहिए और इसके गुणों का लाभ लेना चाहिए।

खीरा के उपयोग बताए गए हैं परंतु किसी भी रोग के उपचार हेतु चिकित्सक से परामर्श करके ही इसका उपयोग करें।

आपके लिए ये Article ” स्वास्थ्य व् सौंदर्य के लिए खीरा के उपयोग Uses of cucumber for health and beauty”  कितना उपयोगी लगा कृपया कमेंट करके जरूर बताएं।

1 Comment

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *